ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
H.D.Kumaraswamy Biography in Hindi
November 8, 2019 • Damodar Singh

वास्तविक नाम हरदानहल्ली देवेगौड़ा कुमारस्वामी
उपनाम कुमारणा
व्यवसाय भारतीय राजनेता, फिल्म निर्माता
लोकप्रियता एच डी देवेगौड़ा (भारत के पूर्व प्रधानमंत्री) के पुत्र होने के नाते
पार्टी/दल जनता दल (सेक्युलर)

हरदनहल्ली देवगौड़ा कुमारस्वामी का जन्म १६ दिसम्बर १९५९ में हुआ था एक भारतीय राजनितज्ञ हैं जो कि २००६ से २००७ के मध्य भारत के दक्षिणी राज्य कर्नाटक के १८वें मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उनके पिता ऍच॰ डी॰ देवगौड़ा भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रह चुके हैं। गौड़ा कन्नड़ फ़िल्मों के निर्माता, वितरक तथा प्रदर्शक भी हैं।वह अपने समर्थकों के मध्य कुमारान्ना के नाम से भी जाने जाते हैं। वह जनता दल (सेक्युलर) के कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष भी हैं।

राजनीतिक यात्रा 1996: के आम चुनावों से उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया और कनकपुरा (रामानगर जिले में) से जीत दर्ज की।
1998: कनकपुरा से चुनाव लड़ा और एम वी चंद्रशेखर मूर्ति से हार गए।
1999: साथनूर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और हार गए।
2004: रामानगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने।
2006: 4 फरवरी को कर्नाटक के 18 वें मुख्यमंत्री बने और 9 अक्टूबर 2007 तक कार्य किया।
2009: 15 वीं लोक सभा के द्वितीय कार्यकाल के लिए वह पुनः निर्वाचित हुए।
2013: 31 मई को कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता बने।

एच. डी. कुमारस्वामी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ
क्या एच. डी. कुमारस्वामी धूम्रपान करते हैं ?: ज्ञात नहीं
क्या एच. डी. कुमारस्वामी शराब पीते हैं ?: ज्ञात नहीं
उनका जन्म एक राजनितिक परिवार में हुआ था, क्योंकि उनके पिता एच. डी. देवेगौड़ा ने भारत के 11 वें प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया है।

कुमारस्वामी एक वोक्कलिगा जातीय परिवार से संबंधित हैं, जिसे भारत सरकार द्वारा अन्य पिछड़े वर्ग के रूप में वर्गीकृत किया गया है।
स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी करने के बाद, उन्होंने वर्ष 1996 में राजनीति में प्रवेश किया। जिसके चलते उन्हें कंकपुरा (रामानगर जिले में) लोकसभा क्षेत्र से सदस्य के रूप में चुना गया।
वर्ष 1998 में, कुमारस्वामी को कंकपुरा से प्रतिद्वंदी एम वी चंद्रशेखर मूर्ति से हार का सामना करना पड़ा, हार इतनी बुरी थी कि उनकी जमा राशि भी जब्त कर दी गई।
वर्ष 2004 के राज्य चुनावों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला और तब कांग्रेस और जेडीएस कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार ने निर्विरोध धर्म सिंह को मुख्यमंत्री चुना, जिसके कुछ समय बाद कुमारस्वामी ने अपने 42 विधायकों के साथ गठबंधन छोड़ दिया और सरकार भंग हो गई।
28 जनवरी 2006 को, कर्नाटक के तत्कालीन राज्यपाल ने कुमारस्वामी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया, तब उन्होंने 4 फरवरी 2006 से 9 अक्टूबर 2007 तक कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया।
मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, कर्नाटक के जीडीपी ने हर समय उच्च रिकॉर्ड दर्ज किया। जिसके चलते वह पीपुल्स सीएम के रूप में लोकप्रिय हुए।
एक साक्षात्कार के दौरान उन्होंने कहा कि शुरुआत में, उनकी राजनीति में रूचि नहीं थी बल्कि फिल्म बनाने में रूचि थी।
कुमारस्वामी ने चंद्र चकोरी समेत कई सफल कन्नड़ फिल्मों का निर्माण किया है, जो 365 दिनों तक सिनेमाघरों में सुपरहिट रही थी।