ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
Know what is howdy Modi who is eyeing the whole world
September 20, 2019 • Damodar Singh

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रविवार को टेक्सास के ह्यूस्टन में होने वाले 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में शामिल होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में Howdy Modi कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। , जहां 50 हजार से अधिक भारतीय समुदाय के लोग शामिल होंगे. कार्यक्रम में शामिल होने से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिए हैं कि वह इस कार्यक्रम में कुछ बड़े ऐलान कर सकते हैं जो भारत-अमेरिका के संबंधों को मजबूती देंगे.  

Howdy Modi इवेंट पर पूरी दुनिया की नजरें टिकी होंगी। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बनने के दावेदारों में शामिल तुलसी गबार्ड ने कहा है कि 'हाउडी मोदी' अमेरिका के भारतीय-अमेरिकियों और हिंदू अमेरिकियों को साथ ला रहा है. गबार्ड अमेरिकी कांग्रेस में पहली हिंदू महिला हैं.

गबार्ड ने कहा, '' मैं बहुत खुश हूं कि 'हाउडी मोदी' अमेरिकी कांग्रेस में मेरे कई सहकर्मियों समेत पूरे देश में भारतीय-अमेरिकी और हिंदू अमेरिकी लोगों को साथ ला रहा है.''

क्या है 'हाउडी मोदी' का मकसद ?

हाउडी मोदी, अमेरिका और भारत के रिश्तों के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होने वाला है। इस कार्यक्रम में ट्रंप की मौजूदगी का मकसद भी यही है कि कैसे अमेरिका और भारत के रिश्तों को और मजबूती दी जाए।हाउडी मोदी का मकसद पिछले दिनों व्यापार को लेकर पैदा हुए भारत और अमेरिका के बीच तनाव को कम करना भी है। दोनों देशों के अधिकारियों के बीच व्यापार वार्ता और कश्मीर मुद्दे को लेकर भी अमेरिका समर्थन दर्शाना चाहता है।

ह्यूस्टन में हाउडी मोदी इवेंट से ठीक पहले भारत और अमेरिका के अधिकारी एक व्यापार समझौते पर चर्चा कर रहे हैं और उसे जल्द अंतिम रूप देने की कोशिश कर रहे हैं। भारत द्वारा अमेरिकी सामानों पर लगाए जाने वाले शुल्क को लेकर दोनों देशों के बीच पिछले दिनों काफी तनाव बढ़ गया था।हाउडी मोदी के जरिए उसे कम करने की कोशिश की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह्यूस्टन में एनआरजी स्टेडियम में 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में 50,000 से ज्यादा लोगों को संबोधित करेंगे. इस दौरान उनके साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी मौजूद होंगे. ट्रम्प के अलावा इसमें अमेरिका सरकार के कई शीर्ष अधिकारी, कांग्रेस सदस्य और मेयर शामिल होंगे.

गबार्ड ने कहा, '' भारत दुनिया का सबसे प्राचीन और विशाल लोकतंत्र वाला देश है और अमेरिका के मुख्य सहयोगियों में से एक है.''

उन्होंने कहा, ''यदि भारत और अमेरिका जलवायु परिवर्तन, परमाणु युद्ध और परमाणु प्रसार को रोकने और हमारे लोगों को आर्थिक स्तर पर और मजबूत करने जैसे दुनिया को प्रभावित करने वाले मामलों से निपटना चाहता है तो दोनों देशों को मिलकर काम करना होगा.''

22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन में एनआरजी स्टेडियम(NRG Stadium) में होने वाले हाउडी मोदी का नारा है, 'शेयर्ड ड्रीम्स, ब्राइट फ्यूचर' यानी 'साझा सपने, उज्ज्वल भविष्य।' इस कार्यक्रम के लिए 50 हजार से अधिक लोगों ने रजिस्टर कराया है, हालांकि यह कार्यक्रम मुख्य रूप से भारतीय समुदाय के लिए है, लेकिन इसमें कोई भी शामिल हो सकता है।

Howdy Modiका कौन है आयोजक ?

हाउडी मोदी कार्यक्रम का आयोजन टेक्सास इंडिया फोरम कर रहा है। टेक्सास इंडिया फोरम एक गैर-लाभाकारी संगठन है। इस संगठन का मकसद भारत और अमेरिका के बीत सहयोग को बढ़ाना है। हाउडी मोदी कार्यक्रम के लिए 1000 से ज्यादा Voulnteer और 650 टेक्सास स्थित वेलकन पार्टनर ऑर्गनाइजेशन के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।

आपको बता दें कि सोमवार को ही व्हाइट हाउस की तरफ से इस बात की पुष्टि की गई थी कि डोनाल्ड ट्रंप 22 सितंबर को होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में डोनाल्ड ट्रंप के अलावा कई अमेरिकी सांसद, रिपब्लिकन-डेमोक्रेट्स पार्टी के नेता शामिल होंगे. ऐसा पहली बार होगा जब डोनाल्ड ट्रंप-नरेंद्र मोदी इस तरह के कार्यक्रम में मंच साझा करेंगे.

कार्यक्रम में क्या है खास

इसकी तैयारी पिछले तीन साल से चल रही थी, नरेंद्र मोदी ने उन्हें वादा किया था कि वह चुनाव खत्म होने के बाद वह यहां जरूर आएंगे. करीब चार महीने पहले पीएम मोदी को इस कार्यक्रम का आधिकारिक निमंत्रण भेजा गया था.

दरअसल, टेक्सास राज्य अमेरिका का दूसरा बड़ा राज्य है. यहां पर भारतीय समुदाय के लोग हजारों की संख्या में रहते हैं, यहां रहने वाले भारतीय समुदाय के लोग काफी अमीर हैं और बिजनेस के क्षेत्र में बड़ा नाम रखते हैं. यही कारण है कि डोनाल्ड ट्रंप भी इस क्षेत्र में आ रहे हैं, क्योंकि अगले साल अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव भी होने हैं.