ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
Piyush Goyal Biography in Hindi
November 8, 2019 • Damodar Singh

असली नाम: पीयूष वेदप्रकाश गोयल

उपनाम: जानकारी नहीं

व्यवसाय: भारतीय राजनीतिज्ञ

राजीनीति पार्टी: भारतीय जनता पार्टी

जन्मदिन: 13 जून 1964

जन्मस्थान: मुंबई, महाराष्ट्र, भारत

उम्र: 13 जून 1964 से अभी तक

राशि नाम: मिथुन

धर्म: हिन्दू

राष्ट्रीयता: भारतीय

घर: मुंबई, महाराष्ट्र, भारत

पता: C 1/12, Pandara Park, New Delhi 110003

शौक: पढ़ना

पसंदीदा नेता: नरेंद्र मोदी

खाने की आदत: नॉन वेजटेरियन

पीयूष गोयल की जाति क्या है |
बनिया

पीयूष गोयल की भौतिक अवस्था
लम्बाई: 5'10”

बजन: 70 Kg

बालों का रंग: काला

आँखों का रंग: भूरा

पीयूष गोयल का व्यक्तिगत जीवन

पीयूष गोयल का जन्म मुंबई में सन् 1964 में हुआ था और इनके पिता और माता वेदप्रकाश और चंद्रकांता राजनीति से जुड़े हुए थे.
पीयूष गोयल ने साल 1991 में विवाह किया था और इनकी पत्नी का नाम सीमा है. इस शादी से इन्हें एक बेटा है जिसका नाम ध्रुव है और एक बेटी है जिसक नाम राधिका है.
पीयूष गोयल की पढ़ाई

एक राजनीति परिवार से आने वाले पीयूष गोयल ने राजनीति में करियर बनाने से पहले अपनी शिक्षा पूरी की और इनके पास कई सारे विषयों में डिग्री हैं. इनके पास इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया से सीए की डिग्री है और ये इस परीक्षा में पूरे भारत में दूसरे स्थान पर आए थे. ये निवेश बैंकर हुआ करते थे.

पीयूष गोयल का राजनीति करियर

पीयूष गोयल अपने पिता की तरह ही बीजेपी पार्टी से जुड़े हुए हैं और इस वक्त ये राज्सभा से सांसद हैं. ये 1984 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हुए थे और इनको इस पार्टी की और से तब भारतीय जनता युवा मोर्चा का सदस्य बनाया गया था. इन्होंने बीजेपी पार्टी को मजबूत करने के लिए काफी मेहनत की थी और साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पीयूष गोयल को पार्टी के विज्ञापन अभियान और सोशल मीडिया का काम सौंपा गया था.

व्यवसाय
उन्होंने भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंकों के बोर्ड, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 2001-2004 और बैंक ऑफ बड़ौदा 2002-2004 को सरकारी उम्मीदवार के रूप में सेवा दी।

पियुष वित्त मंत्रालय की स्थायी समिति और रक्षा मंत्रालय के लिए परामर्श समिति के सदस्य थे। इंडियन मर्चेंट्स चैंबर की प्रबंध समिति का एक सक्रिय सदस्य, वह आदिवासी शिक्षा और शारीरिक रूप से चुनौतीपूर्ण (जयपुर फुट) के कल्याण जैसे विविध क्षेत्रों में एनजीओ के साथ भी शामिल है।

अपने 28 साल के राजनीतिक करियर के दौरान, उन्होंने राष्ट्रीय कार्यकारिणी पर कार्य किया है और भाजपा में कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। उन्हें नदियों के अंतःक्रिया के लिए टास्क फोर्स में भारत सरकार द्वारा नामित किया गया था। वह डीई था। 1 99 1 में संसद चुनावों के लिए अभियान प्रभारी और 2004 से सभी चुनावों में केंद्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

उन्हें 3 जून 2016 को राज्यसभा के लिए महाराष्ट्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में निर्वाचित किया गया था।

केंद्रीय मंत्री
पियुष गोयल (54) भारत सरकार में रेल मंत्री और कोयला मंत्री हैं। वह भारत की संसद (राज्यसभा) के ऊपरी सदन के सदस्य हैं, और पहले बिजली, कोयला, नई और नवीकरणीय ऊर्जा (2014-2017) और खानों (2016-17) के लिए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे। ।

श्री गोयल के कार्यकाल में भारत के बिजली क्षेत्र में परिवर्तनकारी परिवर्तन हुए, जिसमें देश के कुछ दूरस्थ और अप्राप्य हिस्सों में लगभग 18,000 अनियमित गांवों के विद्युतीकरण की तेजी से ट्रैकिंग शामिल है, जो कभी भी सबसे व्यापक विद्युत क्षेत्र सुधार (यूडीएई) का रोलआउट है, ऊर्जा दक्षता के लिए दुनिया के सबसे बड़े एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम (उजाला) की सफलता, और दुनिया के सबसे बड़े अक्षय ऊर्जा विस्तार कार्यक्रम के माध्यम से अक्षय ऊर्जा का भारी प्रसार। अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी (आईईए) की रिपोर्ट है कि वर्ष 2000 में, भारत की आबादी के आधे से भी कम बिजली तक पहुंच थी। श्री गोयल के कार्यकाल के दौरान 2018 तक, 80% से अधिक आबादी के पास बिजली की पहुंच थी। आईईए ने कहा कि इस गति से भारत 2020 तक सार्वभौमिक विद्युतीकरण करेगा, “विद्युतीकरण के इतिहास में सबसे बड़ी सफलताओं में से एक।” श्री गोयल के अन्य उपलब्धियों में भारत की ऊर्जा सुरक्षा में सुधार और सफल होने के लिए कोयले की कमी को समाप्त करना शामिल है। कोयला ब्लॉक के पारदर्शी ई-नीलामी का आचरण। उन्होंने 2022 तक सौर ऊर्जा के 20 जीडब्ल्यू के लक्ष्य के लक्ष्य को पांच बार (यानी 100 जीडब्ल्यू) में संशोधित किया।

केंद्रीय में बनाएं गए मंत्री

केंद्रीय में कई पदों को पीयूष गोयल ने संभाल रखा है और ये इस वक्त रेल मंत्री हैं. वहीं रेल मंत्री के अलावा इन्होंने किन किन महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर रखा है इसकी जानकारी इस प्रकार है.

पदों के नाम कब संभाला
निदेशक (सरकारी उम्मीदवार), बैंक ऑफ बड़ौदा 2001-2004
भारत सरकार के इंटरलिंकिंग के लिए कार्य बल में सदस्य 2002-2004
निदेशक (सरकार नामित), भारतीय स्टेट बैंक 2004-2008
राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी मार्च 2010- मई 2014
राज्यसभा के लिए निर्वाचित जुलाई 2010
वित्त संबंधी स्थायी समिति के सदस्य अगस्त 2010 – मई 2014
राज्य सभा के सदस्यों को कंप्यूटर उपकरणों के प्रावधान पर समिति के सदस्य अगस्त 2012 – मई 2014
ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
कोयला मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)