ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
भारत की इस महिला गेंदबाज ने रचा इतिहास, चटकाए सभी 10 विकेट
February 26, 2020 • Damodar Singh • खेल

पारी के सभी 10 विकेट झटकना किसी अजूबे से कम नहीं. भारतीय युवा महिला तेज गेंदबाज ने यह कारनामा कर दिखाया है. 4.5 ओवरों की गेंदबाजी में एक मेडन सहित 12 रन देकर 10 विकेट चटकाकर इस गेंदबाज ने इतिहास रचा है. चंडीगढ़ की ओर से खेलते हुए काशवी गौतम ने पारी के सभी विकेट चटकाने का कमाल किया है. वह सीमित ओवरों के मैच में पारी के सभी 10 विकेट लेने वाली पहली भारतीय गेंदबाज बनीं.

आंध्र प्रदेश के कडप्पा में यह कारनामा

दरअसल, चंडीगढ़ की कप्तान काशवी गौतम ने मंगलवार को कडप्पा (आंध्र प्रदेश) स्थित केएसआरएम कॉलेज ग्राउंड में महिला अंडर-19 वनडे ट्रॉफी (Womens Under 19 One Day Trophy) में अरुणाचल प्रदेश की पूरी टीम को अकेले ही आउट कर दिया. इसमें उनकी एक हैट्रिक भी शामिल रही. बीसीसीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर इसका विडियो शेयर किया है.

अरुणाचल की टीम 25 रनों पर ऑल आउट

इसके बाद जब अरुणाचल की टीम जब लक्ष्य का पीछा करने उतरी, तो काशवी गौतम ने कहर बरपाया और 4.5 ओवरों गेंदबाजी में सिर्फ 12 रन देकर पूरी टीम को ढेर कर दिया. विपक्षी टीम 8.5 ओवरों में महज 25 रन ही बना सकी और चंडीगड़ ने 161 रनों से यह मैच जीत लिया. काशवी की तूफानी गेंदबाजी के आगे अरुणाचल प्रदेश की 8 बल्लेबाज खाता तक नहीं खोल सकीं. एक ही बल्लेबाज मेघा शर्मा (10) ही दहाई का आंकड़ा छू पाई.

जब अनिल कुंबेल ने टेस्ट में किया था कमाल

पारी में सभी 10 विकेट चटकाने की बात करें, तो अनिल कुंबले एकमात्र भारतीय हैं, जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह उपलब्धि हासिल की. उन्होंने 1999 में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला ग्राउंड पर पाकिस्तान के खिलाफ सभी 10 विकेट हासिल किए थे. लाल गेंद से ही 2001 में देवाशीष मोहंती (दिलीप ट्रॉफी) और 2019 में रेक्स सिंह (अंडर-19 टूर्नामेंट- कूच बिहार ट्रॉफी) ने भी पारी के सभी 10 विकेट झटके थे. इसके अलावा विदर्भ की ओर से खेलने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज श्रीकांत वाघ ने 2018 ने स्टोक्सले क्रिकेट क्लब की तरफ से मिडिल्सब्रो के खिलाफ 11.4 ओवर में 39 रन देकर सभी 10 विकेट चटकाए थे.

सीमित ओवरों के मैच में पहली बार हुआ ऐसा

16 साल की काशवी पहली ऐसी भारतीय गेंदबाज हैं, जिन्होंने समित ओवर के क्रिकेट में यह कारनामा किया है. यानी पुरुष गेंदबाजों को भी उन्होंने पीछे छोड़ दिया और वनडे टूर्नामेंट में यह करिश्मा कर दिखाया.