ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
Coronavirus: चीन में भारतीय छात्रों को घर के अंदर रहने की सलाह, अबतक 80 की मौत, 2300 संक्रमित
January 27, 2020 • Damodar Singh • दुनिया

बीजिंग - चीन ने कोरोना वायरस महामारी का रूप लेता जा रहा है। इस खतरनाक वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 80 हो गई। जबकि 2300 लोगों के इससे पीड़ित होने की खबर है। इनमें से 350 लोगों की हालत नाजुक बताई जा री है। वहीं, वुहान में मौजूद भारतीय छात्रों को घरों के अंदर ही रहने की सलाह दी गई है। चीन में फैली इस बीमारी को निमोनिया का एक नया प्रकार बताया जा रहा है, जिसे 2019-एनसीओवी नाम दिया गया है।

भारत ने कहा है कि चीन में पैदा हुई स्थिति पर उसकी पूरी नजर है। भारतीय दूतावास वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर में मौजूद 250 भारतीयों (ज्यादातर छात्र) के संपर्क में है। सभी भारतीयों के स्वस्थ और सुरक्षित होने की खबर है।

बीमारी का केंद्र वुहान सहित हुबेई प्रांत के 17 अन्य शहरों को बताया जा रहा है जहां वायरस ने सबसे अधिक लोगों की जान ली है। चीन ने वायरस से निपटने के लिए वैक्सीन बनाने का काम शुरू कर दिया है। चाइना सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिंवेशन के वैज्ञानिक जू वेबो ने कहा कि प्राथमिक तौर पर इसमें कुछ हद तक सफलता भी मिली है।

चीन ने वन्य जीवों के कारोबार पर रोक लगाई

कोरोना वायरस फैलने की वजह से मुश्किलों का सामना कर रहे चीन ने रविवार को देश के रेस्तरां और ई-कॉमर्स प्लेटफार्मो पर वन्यजीवों के कारोबार पर रोक लगा दी। माना जा रहा है कि वन्य जीवों वाले मांस के बाजार से इंसानों में इसका संक्रमण फैला है। 2002-2003 में फैले एसएआरएस (सिवीयर एक्यूट रेस्परेटरी सिंड्रोम) वायरस की वजह से चीन और हांगकांग में सैकड़ों लोगों की मौत हुई थी। वैज्ञानिकों का मानना है कि उस समय भी संक्रमण की शुरुआत जंगली जानवरों के खाने से हुई थी।

वुहान से अपने कर्मचारियों को बाहर निकालेगी फ्रांस

फ्रांस की कार निर्माण कंपनी पीएसए ने शनिवार को कहा कि वह वुहान से अपने कर्मचारियों को वापस बुलाएगी। कंपनी ने कहा कि कर्मचारियों को वुहान से निकालने की प्रक्रिया चीन के अधिकारियों और फ्रांस के वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों की मदद से पूरी की जाएगी।

वुहान से अपने कर्मचारियों को निकालेगा अमेरिका

अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि वह वुहान स्थित वाणिज्य दूतावास में मौजूद कर्मचारियों को अमेरिका स्थानांतरित करेगा। इसके लिए 28 जनवरी को सैन फ्रांसिस्को के लिए एक फ्लाइट की उसने व्यवस्था की है।

पाकिस्तान, नेपाल में संदिग्ध मामले सामने आए

पाकिस्तान के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के मुताबिक देश में कोरोना वायरस का कोई स्पष्ट मामला सामने नहीं आया है, लेकिन रोग के लक्षण दिखने के बाद मुल्तान और लाहौर में चार चीनी नागरिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पड़ोसी नेपाल में भी दो संदिग्ध मामले सामने आए हैं।