ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
इस युवती के खूबसूरत चेहरे और हंसी पर मत जाना, इसके पीछे छिपा है ड्रग तस्‍करी का सच
January 31, 2020 • Damodar Singh • दुनिया

नई दिल्‍ली । नशीली आंखें, गोरा चेहरा और चेहरे पर प्‍यारी सी हंसी देखकर कोई भी इस युवती पर फिदा हो सकता है। लेकिन आप इसके धोखे में मत आना, क्‍योंकि इस खूबसूरत चेहरे के पीछे एक ड्रग तस्‍कर छिपा है। सुनने में ये पहली बार में बड़ा अटपटा सा लगता है लेकिन इस खूबसूरत चेहरे की फिलहाल हकीकत  यही है। 26 वर्षीय इस युवती का नाम नामा इसाचर है। अमेरिकी-इजरायली मूल की इस युवती को कुछ माह पहले ड्रग तस्‍करी के आरोप में रूस में हिरासत में लिया गया था। नामा को उस वक्‍त हिरासत में लिया था जब वह अपना मास्‍को ट्रिप खत्‍म कर भारत लौट रही थीं। 

इसके अपराध को गंभीर मानते हुए कोर्ट ने नामा को सात वर्ष की कैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद इसने रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन के समक्ष क्षमा याचिका दायर की थी। राष्‍ट्रपति पुतिन ने इसकी याचिका को स्‍वीकार करते हुए इसको माफी देने का फैसला लिया। इस फैसले के बाद वह एक बार‍ फिर से अपने खुली हवा में सांस ले सकेगी। राष्‍ट्रपति के फैसले के बाद तेजी से सभी कानूनी और कागजी प्रक्रिया को भी पूरा कर लिया गया। 

 

पुतिन ने ये फैसला ऐसे समय में लिया है जब इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू मास्‍को के दौरे पर वहां पहुंचे हुए हैं। उनका यह दौरा अमेरिका और मध्‍य-पूर्व में फैले तनाव को लेकर है। माना जा रहा है कि अमेरिका के पक्ष में माहौल बनाने के लिए और अमेरिका के समर्थन समेत ईरान पर दबाव बनाने के लिए वहां पहुंचे हैं। हालांकि नेतन्‍याहू के दौरे में एक मुद्दा नामा की रिहाई भी थी। बहरहाल, इस मुद्दे पर विचार के साथ नामा को माफी देने के फैसले ने इजरायल और रूस की दोस्‍ती में गरमाहट जरूर पैदा की है। इतना ही नहीं वह गुरुवार को राष्‍ट्रपति नेतन्‍याहू के ही विशेष विमान से इजरायल वापस लौट गई। इसकी पुष्टि इजरायल के स्‍थानीय अखबारों ने भी की है। 

पुतिन की खिंचाई

वहीं दूसरी तरफ रूसी मीडिया ने नामा की रिहाई को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया है। स्‍थानीय मीडिया ने नामा की रिहाई पर टिप्‍पणी करते हुए यहां तक लिखा है कि रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन इजरायल के सामने झुक गए और नामा की रिहाई पर मुहर लगा दी, जबकि वह संगीन अपराध के तहत सजा भुगत रही थी। 

 

नेतन्‍याहू ने पुतिन को इस फैसले के बाद 'मेरे दोस्‍त धन्‍यवाद' कहकर थैंक्‍स कहा है। नामा की मां ने भी उसकी रिहाई की पुष्टि करते हुए पुतिन को धन्‍यवाद कहा है। उन्‍होंने इसके लिए हर उस आदमी का धन्‍यवाद किया है जिसने इसकी कोशिश की थी। गौरतलब है नामा के सूटकेस से अप्रेल 2019 में करीब 9 ग्राम मेरीजुआना मिला था, जिसके बाद उसको गिरफ्तार कर लिया गया था। 

रिश्‍ते बेहतर बनाने की तरफ कदम 

आपको यहां पर ये भी बता दें कि हाल ही में इजरायल की सरकार येरुशलम में बने रशियन ऑर्थोडॉक्‍स चर्च से अपना दावा छोड़ने की पेशकश की थी। यह भी दोनों देशों के बीच रिश्‍तों को बेहतर बनाने की दिशा में उठाया गया एक कदम था। यह चर्च पुराने येरुशलम में Church of the Holy Sepulchre के नजदीक है। इसको लेकर दशकों से दोनों देशों के बीच विवाद था। बाद में इजरायली कोर्ट ने भी रूस के पक्ष में अपना निर्णय सुनाया था।