ALL देश दुनिया खेल मनोरंजन व्यापार/मनी धर्म/ राशि जीवन संवाद तकनीक करियर लाइव टीवी
Yes Bank पर रोक लगी तो पेटीएम फोन पे के मजे लेने लगा, फिर क्या हुआ
March 7, 2020 • Damodar Singh • व्यापार/मनी

यस बैंक पर रिजर्व बैंक ने 5 मार्च को नकेल कसी. बैंक का कामकाज अपने हाथ में ले लिया. 3 अप्रैल तक 50 हजार रुपये से ज्यादा निकालने पर रोक लगा दी. इससे बैंक के खाताधारकों में खलबली मच गई. लेकिन यस बैंक के चक्कर में डिजिटल पेमेंट कंपनी फोन पे (PhonePe) भी फंस गई. 6 मार्च को फोन पे ऐप ठप हो गया. उससे पैसे न तो जा रहे थे और न ही आ रहे थे. इससे लोगों को काफी परेशानी हुई. ऐसे में फोन पे की इस हालत पर उसकी राइवल यानी प्रतिद्वंद्वी कंपनी पेटीएम को मौज लेने का मौका मिल गया. उसने मदद का हाथ बढ़ाते हुए फोन पे पर तंज कसा. पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने ट्वीट किया-

प्रिय फोन पे,
पेटीएम बैंक के यूपीआई प्लेटफॉर्म पर आप आमंत्रित हैं. यह सबको अपनाता है और आपके कामकाज को बिना रुके आगे बढ़कर संभाल सकता है. हमें आपको ठीक करने का मौका दीजिए.

यस बैंक पर रिजर्व बैंक ने 5 मार्च को नकेल कसी. बैंक का कामकाज अपने हाथ में ले लिया. 3 अप्रैल तक 50 हजार रुपये से ज्यादा निकालने पर रोक लगा दी. इससे बैंक के खाताधारकों में खलबली मच गई. लेकिन यस बैंक के चक्कर में डिजिटल पेमेंट कंपनी फोन पे (PhonePe) भी फंस गई. 6 मार्च को फोन पे ऐप ठप हो गया. उससे पैसे न तो जा रहे थे और न ही आ रहे थे. इससे लोगों को काफी परेशानी हुई. ऐसे में फोन पे की इस हालत पर उसकी राइवल यानी प्रतिद्वंद्वी कंपनी पेटीएम को मौज लेने का मौका मिल गया. उसने मदद का हाथ बढ़ाते हुए फोन पे पर तंज कसा. पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने ट्वीट किया-

प्रिय फोन पे,
पेटीएम बैंक के यूपीआई प्लेटफॉर्म पर आप आमंत्रित हैं. यह सबको अपनाता है और आपके कामकाज को बिना रुके आगे बढ़कर संभाल सकता है. हमें आपको ठीक करने का मौका दीजिए.
पेटीएम के इस ट्वीट पर फोनपे ने भी जवाब दिया. उसने क्रिकेट के फेमस डायलॉग के जरिए पेटीएम की बोलती बंद कर दी. फोनपे ने तीखे अंदाज में लिखा- प्रिय पेटीएम बैंक, यदि आपका यूपीआई प्लेटफॉर्म इतना ही अच्छा होता तो हम खुद ही आपसे कह देते. संकट की घड़ी में अपने साथियों से अलग होने की तेजी भी किस काम की है. फॉर्म टेंपररी है, लेकिन क्लास परमानेंट.

सोशल मीडिया यूजर्स को दो दिग्गज डिजिटल पेंमेंट कंपनियों की यह बातचीत पसंद आई. लेकिन फोन पे के जवाब को ज्यादा सराहना मिली. खबर लिखने तक पेटीएम के ट्वीट को 304 रिट्वीट और 1600 लाइक मिले. वहीं फोन पे के ट्वीट को 694 बार रिट्वीट किया गया और 3100 लाइक मिले.

फोन पे क्यों हुआ ठप
फोनपे डिजिटल लेनदेन का कामकाज यस बैंक के जरिए करता है. वह पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर के रूप में यस बैंक की मदद ले रहा था. यस बैंक पर आरबीआई के पाबंदी की वजह से फोन पे के ग्राहकों का काम भी रूक गया. देर रात फोन पे ने बताया कि उसका ऐप अब सही से काम कर रहा है.